Facebook SDK

E Peek Pahani Maharashtra : ई-पीक पाहणी कशी करावी

ई-पीक पाहणी कशी करावी


ई-पिक पहाणी कशी करावी, E Peek Pahani मोबाइल से कैसे करे ? E-Peek Pahani Online Maharashtra through apk app.


E Peek Pahani Maharashtra

ई पीक पहानी यह महारास्ट्र राज्य का एक प्रोजेक्ट है जो वर्तमान में 6 तहसीलों में चल रहा है। अचलपुर, कमाठी, डिंडोरी, वाडा, फुलंबरी और बारामती। यह ऐप किसान को फसल डेटा और फसल चरणों की स्वयं फसल रिपोर्टिंग के लिए मदद करता है।


किसानों को अपने खेतों में बोई गई फसलों की जानकारी 7/12 उतारा पर दर्ज कराने के लिए अब तलाठी कार्यालय जाने की जरूरत नहीं होगी। उन्हें ई-पीक पहाणी ऐप की मदद से अपने मोबाइल फोन के माध्यम से फसलों की तस्वीरें अपलोड करने की सुविधा मिलेगी।तलाथी उपलब्ध फोटो व स्थानों के सत्यापन के बाद 7/12 उतारा पर फसल की जानकारी दर्ज करेगा।


ई-पिक पाहणी काय आहे : क्या है ?

ई पिक पाहणी से आप अपने साथ बारा पर अपने फसल की नोंद लगा सकते है | खेत में कितने पेड़ है, खरीप, रब्बी के लिए कोण सी फसल ली है, इसको भी आप अपने साथ बारा पर नोंद कर सकते है | ई पीक पाहणी: महसूल विभागाचा का ई-पीक पाहणी परियोजना पूरे प्रदेश में 15 अगस्त से लागू होगी.


E Peek Pahani का उद्देश क्या है ?

इस संबंध में एक सरकारी आदेश जारी किया गया है और इससे किसानों को काफी फायदा होगा।

किसानो के साथबारा पर फसल की नोंद करना जरूरी होता है। इससे किसानों के उत्पादन, कृषि भूमि की ग्रेडिंग, सूखा, अधिक वर्षा या तूफान से होने वाले नुकसान का अनुमान लगाना संभव हो जाता है।


इस फसल पंजीकरण के आधार पर किसानों को फसल ऋण भी दिया जाता है। हालांकि, किसानों ने हमेशा इस बात पर आपत्ति जताई कि फसल निरीक्षण सही नहीं था क्योंकि दो या तीन गांवों में केवल एक ही तलाठी होता है । इसी को ध्यान में रखते हुए अब महसूल विभाग ने किसानों के लिए सीधे अपनी फसल का पंजीकरण कराना संभव कर दिया है. महसूल विभाग ने इसके लिए अलग से मोबाइल एप्लीकेशन बनाया जिसका नाम है ई-पिक पाहणी है |


ई-पिक पाहणी करने के फायदे

1.आपको खेतों में बोई गई फसलों की जानकारी 7/12 उतारा पर दर्ज कराने के लिए अब तलाठी कार्यालय जाने की जरूरत नहीं होगी।

2.इससे गाव, तालुका और जिल्हा वाइज खेती में कोणसे फसल की बुवाई की है, इसकी accurate जानकारी सरकार के पास जाएगी |

3.किसानो को फसल रुण लेने के लिए इसका फायदा होगा |

4.फसल बिमा योजना के तहत फसल का बिमा लेने में इसका फायदा होगा |

5.फसल के नुकसान अगर होता है, तो उसके आकडे इसके जरिए कैलकुलेट करने में मदद होगी |


ई-पिक पाहणी कशी करावी:

ई-पिक पाहणी करने के लिए आपके पास इन्टरनेट कनेक्शन और एक एंड्राइड मोबाइल होना जरुरी है | तो चलिए E Peek Pahani कैसे की जाती है, देखते है |


1.सबसे पहले आपको प्ले स्टोर पर जाना है, और E-Peek Pahani (Department of Revenue, Government of Maharashtra) इसको इनस्टॉल करना होगा |


2.इनस्टॉल करने के बाद उसको ओपन करे | ओपन करने के बाद आपको कुछ जानकारी दिखाई देगी उसको आपको left साइड को स्लाइड करना एसा आपको 3 बार करना होगा |


3.उसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालना होगा |

उसके बाद अपना जिल्हा, तालुका और गाव सेलेक्ट करना होगा |


4.उसके बाद आपको अपने खेती का खाता नंबर डालकर सर्च करना होगा | उसके बाद आपको अपना नाम दिखाई देगा , अपना नाम सेलेक्ट कर के नेक्स्ट (पुढे) पर क्लिक करे |


5.फाइनल एक बार अपना नाम, साथ बारा का खाता नंबर कन्फर्म करने के बाद आपके मोबाइल पर message से एक 4 digit का code(सांकेतांक) आएगा | उसी code (सांकेतांक) की मदद से आप लॉग इन करेगे |

अब आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो गया है |आगे हमे अपने फसल की नोंदणी करनी है |


1.उसके लिए एक बार फिर से app ओपन करे | अप आपको आपका नाम दिखाई देगा , उसके निचे आपको code (सांकेतांक) डालना है, जो आपके मोबाइल पर मेसेज में आया था |

2.code (सांकेतांक) डालने के बाद आपके सामने परिचय, पिक माहिती नोंदवा, कायम पड़ नोंदवा, बांधावरची झाडे नोंदवा , अपलोड, पिक माहिती मिळवा. इस तरह के आप्शन दिखाई देंगे |


3.उसमे पिक माहिती नोंदवा सेलेक्ट करे | अब उसमे खाते नंबर , भुमापन / गट क्रमांक सेलेक्ट करे , उसके बाद हंगाम चुने (खरीप, रब्बी), पीकाचा प्रकार निवडा, जल सिंचन निवडा, और कैमरा से अपने फसल की फोटो ले और अपलोड पर क्लिक करे |

इस प्रकार आप अपने फसल की नोंद ई-पिक पाहणी के जरिए कर सकते है |


Post a Comment

أحدث أقدم